Jhopdi Mein Charpai Lyrics From Mawaali [English Translation]

Jhopdi Mein Charpai Lyrics: A Hindi song ‘Jhopdi Mein Charpai’ from the Bollywood movie ‘Mawaali’ in the voice of Asha Bhosle, and Kishore Kumar. The song lyrics was given by Indeevar, and music is composed by Bappi Lahiri. It was released in 1983 on behalf of Saregama.The Music Video Features Jeetendra & Sri DeviArtist: Asha Bhosle & Kishore KumarLyrics: IndeevarComposed: Bappi LahiriMovie/Album: MawaaliLength: 5:30Released: 1983Label: Saregama

Jhopdi Mein Charpai Lyrics

झ झ झोड़ी में च च चरपाई
झ झ झोड़ी में च च चरपाई
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
प्यार का करले हंगमा निकल जाये सुहानी घडी
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ीमरकत तू जा प्यार भाई भी
चारपाई भी चारपाई भी
कुकृ कुकृ तेरे जैसा यारपाइ दे
यर पै दे हा हा यार पाइ दे
सूरज न देखु चाण्डा न देखु
तेरा ही बस प्यार पाई जाझोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
प्यार का करले हंगमा निकल जाये सुहानी घडी
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ीरोको नहीं करने दो प्यार दो दिल वालो को
कुकृ कुकृ
रोको नहीं भरने दो मन में पंख उजालो को
तू अपने घरवालों को मनले
मैं अपने घरवालों कोझोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
प्यार का करले हंगमा निकल जाये सुहानी घडी
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ीतेरा मुझे साथ चाहिए
साथ चाइये साथ चाइये
होठों को तेरे बात चेहये
बात चाहिए बात चाहिए
कपडा न ब गहणा नका
वापस तो बस तेरा हाथ चाहिए
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ीप्यार का करले हंगमा निकल जाये सुहानी घडी
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
झ झ झोड़ी में च च चरपाई
झ झ झोड़ी में च च चरपाई
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ीझोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
प्यार का करले हंगमा निकल जाये सुहानी घडी
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी

Jhopdi Mein Charpai Lyrics English Translation

झ झ झोड़ी में च च चरपाई
Jh Jha Jha F Ch C Charpay
झ झ झोड़ी में च च चरपाई
Jh Jha Jha F Ch C Charpay
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
man lying without bread in the hut
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
man lying without bread in the hut
प्यार का करले हंगमा निकल जाये सुहानी घडी
Love’s bitterness leaves the hustle and bustle
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
man lying without bread in the hut
मरकत तू जा प्यार भाई भी
Markat you go love brother too
चारपाई भी चारपाई भी
bunk also bunk
कुकृ कुकृ तेरे जैसा यारपाइ दे
kukri kukri give me a friend like you
यर पै दे हा हा यार पाइ दे
yer pai de ha ha yaar pai de
सूरज न देखु चाण्डा न देखु
don’t see the sun don’t see the moon
तेरा ही बस प्यार पाई जा
your only love can be found
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
man lying without bread in the hut
प्यार का करले हंगमा निकल जाये सुहानी घडी
Love’s bitterness leaves the hustle and bustle
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
man lying without bread in the hut
रोको नहीं करने दो प्यार दो दिल वालो को
Don’t stop, let the love of two hearts
कुकृ कुकृ
mischievous
रोको नहीं भरने दो मन में पंख उजालो को
Don’t stop, let the wings light up in your mind
तू अपने घरवालों को मनले
you take care of your family
मैं अपने घरवालों को
i to my family
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
man lying without bread in the hut
प्यार का करले हंगमा निकल जाये सुहानी घडी
Love’s bitterness leaves the hustle and bustle
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
man lying without bread in the hut
तेरा मुझे साथ चाहिए
i need your support
साथ चाइये साथ चाइये
Let’s go together
होठों को तेरे बात चेहये
lips want your words
बात चाहिए बात चाहिए
need talk need talk
कपडा न ब गहणा नका
neither cloth nor jewelry
वापस तो बस तेरा हाथ चाहिए
just need your hand back
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
man lying without bread in the hut
प्यार का करले हंगमा निकल जाये सुहानी घडी
Love’s bitterness leaves the hustle and bustle
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
man lying without bread in the hut
झ झ झोड़ी में च च चरपाई
Jh Jha Jha F Ch C Charpay
झ झ झोड़ी में च च चरपाई
Jh Jha Jha F Ch C Charpay
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
man lying without bread in the hut
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
man lying without bread in the hut
प्यार का करले हंगमा निकल जाये सुहानी घडी
Love’s bitterness leaves the hustle and bustle
झोपडी में चारपाई मनुष्य बिना रोटी पड़ी
man lying without bread in the hut

Leave a Comment